PTI टीचर कैसे बनें? How To Become a PTI Teacher 

पीटीआई का अर्थ होता है फिजिकल ट्रेंनिंग इंस्ट्रक्टर। शारीरिक गतिविधियों को कराने के लिए स्कूलों में पीटीआई टीचर रखा जाता है। पीटीआई टीचर स्कूलों में छात्रों को खेलकूद और अन्य शारीरिक गतिविधियों के बारे में जानकारी देता है। और साथ ही साथ छात्रों को स्वस्थ रहने का भी ज्ञान देता है। आज हम आपको बताएंगे कि पीटीआई टीचर कैसे बने और पीटीआई टीचर बनने के लिए क्या करें।

 


विषय सूची 

  • PTI (पीटीआई) की फुल फॉर्म
  • पीटीआई टीचर बनने के लिए शुरुआत में क्या करें
  • पीटीआई टीचर बनने के लिए क्या करना पड़ेगा
  • PTI टीचर बनने के लिए BPED ( बैचलर ऑफ फिजिकल एजुकेशन) का डिप्लोमा क्या होता है
  • पीटीआई टीचर के क्या क्या कर्तव्य होते हैं
  • पीटीआई टीचर बनने के लिए कितनी आयु होनी चाहिए
  • पीटीआई टीचर के प्रकार
  • पीटीआई टीचर बनने के लिए कोर्स
  • पीटीआई टीचर बनने के लिए भारत में टॉप कॉलेज कौन कौन से हैं
  • पीटीआई टीचर बनने के लिए क्या करें
  • पीटीआई टीचर के लिए रोजगार क्षेत्र
  • पीटीआई टीचर बनने के लिए फीस कितनी होती है
  • पीटीआई टीचर की चयन प्रक्रिया कैसे होती है
  • बीपीएड के कोर्स करने के लिए कितने % नंबर होने चाहिए 
  • BPED का कोर्स कितने साल का होता है

PTI (पीटीआई) की फुल फॉर्म

PTI की फुल फॉर्म Physical Training Instructor होती है हिंदी में इसे शारीरिक प्रशिक्षण अनुदेशक बोला जाता है।


पीटीआई टीचर बनने के लिए शुरुआत में क्या करें?

आजकल टीचर की नौकरी को एक बहुत ही अच्छी नौकरी मानी जाती है। स्कूल में टीचर भिन्न प्रकार के होते हैं हर एक सब्जेक्ट के अलग-अलग टीचर होते हैं। अगर आप भी पीटीआई टीचर बनना चाहते हो तो आपको सबसे पहले एक बैचलर डिग्री प्राप्त करनी पड़ेगी उसके बाद आपको बीपीएड कोर्स करना पड़ेगा।


पीटीआई टीचर बनने के लिए क्या करना पड़ेगा?

आपको पीटीआई टीचर बनने के लिए शारीरिक शिक्षा में डिप्लोमा करना पड़ेगा उसे डीपीएड भी कहा जाता है। पीटीआई टीचर बनने का कोर्स 2 साल का होता है जिसमें विद्यार्थियों को शारीरिक प्रशिक्षण के बारे में ज्ञान दिया जाता है। DPED कोर्स करने के लिए विद्यार्थी के ग्रेजुएशन में 50% से ज्यादा अंक होने चाहिए। इसके अलावा एससी एसटी और ओबीसी वर्गों के लिए आरक्षण भी दिया जाता है।


PTI टीचर बनने के लिए BPED ( बैचलर ऑफ फिजिकल एजुकेशन) का डिप्लोमा क्या होता है?

  • BPED का कोर्स करने के लिए आपके पास ग्रेजुएशन में 50% नंबर होने चाहिए।
  • इस कोर्स में 6वीं से 10वीं कक्षा तक के टीचरों की नियुक्ति होती है।
  • बीपीएड का कोर्स 2 साल का होता है और उसमें 4 सेमेस्टर होते हैं।
  • इस कोर्स में आपको विभिन्न प्रकार के खेलकूद के बारे में ज्ञान दिया जाता है।
  • टीचर बनने के लिए आपको भी खेलकूद में दिलचस्पी होनी चाहिए।


पीटीआई टीचर के क्या क्या कर्तव्य होते हैं?

एक पीटीआई टीचर को पूरे स्कूल में खेलकूद, शारीरिक शिक्षा, छात्रों की शारीरिक गतिविधि इत्यादि का ध्यान रखना पड़ता है। पीटीआई टीचर से यह उम्मीद की जाती है कि वह बच्चों को अच्छे से खेलकूद का ज्ञान दें। और जो बच्चा खेल में दिलचस्पी रखता हो उसे उसकी मनपसंद अच्छे से सिखाएं।


पीटीआई टीचर बनने के लिए कितनी आयु होनी चाहिए?

  • यह टीचर बनने के लिए कम से कम 18 वर्ष और ज्यादा से ज्यादा 44 वर्ष आयु होनी चाहिए।
  • अगर एमपीएड का कोर्स किया हो तो उसमें आयु सीमा पर प्रतिबंध नहीं होता।


पीटीआई टीचर के प्रकार

  • स्पोर्ट्स कोच
  • शारीरिक प्रशिक्षण
  • स्वास्थ्य कोच
  •  क्रिकेट कोच


स्पोर्ट्स कोच

स्पोर्ट्स कोच बनने के लिए आपको विभिन्न प्रकार के खेलों के बारे में ज्ञान होना चाहिए ताकि आप अपने छात्रों को उसके बारे में अच्छे से ज्ञान दें पाएं। आपको वॉलीबॉल, फुटबॉल, कबड्डी, क्रिकेट इत्यादि जैसे खेलों को खिलाने का काम आना चाहिए जिससे कि आप बच्चों को यह सब खेल खिलवा सके। स्पोर्ट्स स्कोच बनने के लिए आपको हर एक खेल के नियमों का पता होना चाहिए और उन नियमों का ज्ञान आपको अपने छात्रों को भी देना पड़ेगा।

शारीरिक प्रशिक्षक

शारीरिक प्रशिक्षक वह होता है जो अपने छात्रों को व्यायाम के द्वारा फिट रहने के बारे में सिखाते हैं । छात्रों को शारीरिक रूप से स्वस्थ रहने का ज्ञान देते हैं।

स्वास्थ्य कोच

स्वास्थ्य कोच छात्रों को शारीरिक रूप और मानसिक रूप से स्वस्थ रहने के बारे में सिखाते हैं ताकि छात्रों को स्वस्थ रहने का ज्ञान मिल सके।

क्रिकेट कोच

क्रिकेट कोच विशेष रूप से क्रिकेट के कार्यों के बारे में ज्ञान देते हैं। यह विद्यार्थियों को बहुत अच्छे से खेलों का ज्ञान देते हैं ताकि वह अलग-अलग प्रतियोगिताओं में भाग ले सकें।


पीटीआई टीचर बनने के लिए कोर्स

  • DPED (डिप्लोमा इन फिजिकल एजुकेशन)
  • BPED (बैचलर ऑफ फिजिकल एजुकेशन)
  • MPED (मास्टर ऑफ फिजिकल एजुकेशन)


DPED (डिप्लोमा इन फिजिकल एजुकेशन)

इस कोर्स में आप 1 से 8 तक के बच्चों के शारीरिक शिक्षक बनते हैं। यह कोर्स 2 साल का होता है और इस कोर्स को करने के लिए कैंडिडेट के उच्च माध्यमिक परीक्षा में कम से कम 50% नंबर होने चाहिए । और इस कोर्स के द्वारा राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय, एसजीएफआई खेल में भाग लेने के लिए कैंडिडेट को 5% छूट दी जाती है।

BPED (बैचलर ऑफ फिजिकल एजुकेशन)

इस कोर्स को करके आप 6 से 10 क्लास तक के बच्चों को शारीरिक शिक्षा का ज्ञान दे सकते है। यह कोर्स 2 साल का होता है और इसमें 4 सेमेस्टर होते हैं । और इसे करने के लिए अधिकतम 3 साल दिए जाते हैं, 3 साल में यह कोर्स पूरा करना ही पड़ेगा।

MPED (मास्टर ऑफ फिजिकल एजुकेशन)

यह कोर्स करके आप 11 और 12 क्लास के छात्रों को शारीरिक शिक्षा का ज्ञान दे सकते हैं। यह कोर्स 2 साल का होता है और इसमें 4 सेमेस्टर होते हैं। इस कोर्स के द्वारा कॉलेज प्रोफेसर, खेल अधिकारी, शारीरिक शिक्षक इत्यादि को ज्ञान देने के लिए शिक्षक तैयार करा जाता है।


पीटीआई टीचर बनने के लिए भारत में टॉप कॉलेज कौन कौन से हैं ?

  • लक्ष्मीबाई नेशनल इंस्टीट्यूट आफ फिजिकल एजुकेशन, ग्वालियर ।
  • ज्योतिबा कॉलेज ऑफ फिजिकल एजुकेशन, नागपुर।
  • कॉलेज ऑफ फिजिकल एजुकेशन, पुणे।
  • वाईएमसीए कॉलेज आफ फिजिकल एजुकेशन, चेन्नई।
  • बलिया पाल कॉलेज ऑफ फिजिकल एजुकेशन, बालासोर।
  • एस ई एसएस कॉलेज ऑफ फिजिकल एंड कॉलेज ऑफ एजुकेशन, जलगांव।
  • इंदिरा गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ फिजिकल एजुकेशन एंड स्पोर्ट्स साइंसेज, दिल्ली।


पीटीआई टीचर बनने के लिए क्या करें?

  • आपके पास शारीरिक शिक्षा या स्वास्थ्य शिक्षा विषय से संबंधित बैचलर डिग्री होनी चाहिए ।
  • आपको शारीरिक शिक्षा सेंटर में एक इंटर्नशिप कंप्लीट करना पड़ेगा।
  • कैंडिडेट को अपने शिक्षण लाइसेंस के लिए आवेदन करना पड़ेगा।
  • कैंडिडेट को पीटीआई टीचर के पदों के लिए आवेदन करना पड़ेगा।
  • कुछ राज्यों में शारीरिक शिक्षा के टीचर बनने के लिए आपके पास मास्टर्स की डिग्री भी होनी चाहिए।
  • ज्यादा से ज्यादा राज्यों में शारीरिक शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए 4 साल की बैचलर डिग्री कैंडिडेट को राज्य प्रमाणन परीक्षा देने के योग्य बनाती है।


पीटीआई टीचर के लिए रोजगार क्षेत्र?

  • सरकारी विद्यालय में
  • सार्वजनिक विद्यालयों में
  • फिटनेस सेंटर में 
  • निजी स्कूलों में 
  • ऑनलाइन स्वस्थ्य कोचिंग


पीटीआई टीचर बनने के लिए फीस कितनी होती है?

पीटीआई टीचर बनने के लिए अलग-अलग कॉलेजों में अलग अलग होती है। पीटीआई टीचर बनने के लिए आपको 10,000 से 60000 तक मासिक फीस भी देनी पड़ सकती है फीस हमेशा कॉलेज ही निर्धारित करते हैं। पीटीआई बनने के लिए फीस इससे कम या ज्यादा भी हो सकती है।


पीटीआई टीचर की सैलरी कितनी होती है?

अगर आपको भी एक पीटीआई टीचर बनना है तो आपको यह पता होना चाहिए कि पीटीआई टीचर की सैलरी कितनी होती है। अगर आप एक प्राइवेट पीटीआई टीचर है तो आपके 10000 से 15000 तक आसानी से महीने के बन जाएंगे। अगर आप सरकारी स्कूल में पीटीआई टीचर है तो आपको पे बैंड टू के आधार पर 9500 से 35000 तक हर महीने सैलरी प्राप्त हो सकती है। पीटीआई टीचर की सैलरी अलग-अलग राज्यों में अलग अलग भी हो सकती है और यह समय के साथ बढ़ती जाती है।


पीटीआई टीचर की चयन प्रक्रिया कैसे होती है?

सबसे पहले आपको लिखित परीक्षा देनी होगी और उसके बाद एक पर्सनल इंटरव्यू देना होगा इसके बाद आपका चयन हो जाता है। कुछ विद्यालयों और महाविद्यालयों में चयन प्रक्रिया अलग होती है वहां पर कुछ खास और अलग तरीके से लिखित परीक्षा के बाद चयन प्रक्रिया की जाती है।


आमतौर पर पूछे जाने वाले कुछ खास सवाल  

Q. पीटीआई टीचर बनने के लिए क्या उम्र होनी चाहिए?

Ans. पीटीआई टीचर बनने के लिए आपकी आयु 18 से 44 साल होनी चाहिए।


Q. बीपीएड के कोर्स करने के लिए कितने % नंबर होने चाहिए ?

Ans. कैंडिडेट का 11वीं और 12वीं में फिजिकल एजुकेशन का विषय होना चाहिए। और उसके साथ कैंडिडेट के 12वीं में कम से कम 50% नंबर होने चाहिए।


Q. BPED का कोर्स कितने साल का होता है?

Ans. बीपीएड का कोर्स 2 साल का होता है। और इसमें 4 सेमेस्टर होते हैं ।अगर 2 साल में कोई उसको कंप्लीट नहीं कर पाता तो अधिकतम उसको 3 वर्ष में इस कोर्स को कंप्लीट करना होता है।