कॉलेज प्रोफेसर कैसे बनें। How to become a college professor.


जिंदगी में आगे बढ़ने के लिए और सफल होने के लिए पढ़ाई बहुत जरूरी है। कुछ लोगों की पढ़ाई में इतनी रुचि होती है कि वह आगे जाकर टीचिंग लाइन में जाना चाहते हैं और कुछ लोगों का पढ़ाई में इतना इंटरेस्ट होता है कि वह आगे जाकर प्रोफेसर बनना चाहते हैं। परंतु शुरुआत में बच्चों को इसकी जानकारी नहीं होती तो आज हम आपको बताएंगे कि एक कॉलेज प्रोफेसर कैसे बने।



आपको किसी  प्रोफेसर कैसे बने।में प्रोफेसर बनने के लिए किसी एक सब्जेक्ट में स्पेशलिस्ट बन्ना होता है।और इसके लिए आपको काफी मेहनत करनी होती है। और आप डायरेक्टली एक प्रोफेसर नहीं बन सकते प्रोफेसर बनने के लिए आपको बहुत सारे एग्जाम देने होते हैं। और उन्हें पास करना होता है। और जब आप एग्जाम को पास कर लेते हैं तो आप एक असिस्टेंट प्रोफेसर बनते हैं। बाद में एक्सपीरियंस होने पर आप एक प्रोफेसर बन जाते हैं। भारत में कॉलेज प्रोफेसर बनने के लिए आपको NET का एग्जाम क्लियर करना होता है।


प्रोफेसर बनने के लिए क्या क्वालिफिकेशन होनी चाहिए।


  • आपको सबसे पहले दसवीं में अच्छे नंबर लाने होंगे
  • जिन विषयों में आपका इंटरेस्ट है उन विषयों में अपनी 12वीं पास करे।
  • अपने फेवरेट सब्जेक्ट में ग्रेजुएशन पूरी करें
  • आपके ग्रेजुएशन में कम से कम 50% अंक होने चाहिए
  • पेशन पास करने के बाद आपको पोस्ट ग्रेजुएशन की पढ़ाई पास करनी होगी।
  • एजुकेशन में भी आपके कम से कम 55% अंक होने चाहिए।
  • पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद आपको M.Phil या P.hd करनी होगी।



कॉलेज में असिस्टेंट प्रोफेसर और लेक्चरर कैसे बने।


1.अपने पसंदीदा विषय में 12वीं पास करें।


अगर आपको एक असिस्टेंट प्रोफेसर या लेक्चरर बनना है तो उसके लिए सबसे पहले आपको अपने पसंदीदा विषय में 12वीं पास करनी होगी। अपने फेवरेट सब्जेक्ट को अच्छे से पढ़े और 12वीं अच्छे मार्क्स के साथ पास करें आपकी ग्रेजुएशन किसी अच्छे government कॉलेज से हो सके। आपको अपनी 12वीं कम से कम 60% नंबरों के साथ पास करनी होगी।


2.अपने फेवरेट विषय से ग्रेजुएशन पूरी करें।


जब आप 12वीं पास कर लेते हैं तो उसके बाद आपको जिस भी सब्जेक्ट का कॉलेज प्रोफेसर या लेक्चरर बनना है तो आपको उस सब्जेक्ट में अपनी ग्रेजुएशन की डिग्री पूरी करनी होगी और ग्रेजुएशन में आपको कम से कम 55% नंबर लाने होंगे।


3.अपनी पोस्ट ग्रेजुएशन की मास्टर डिग्री पूरी करें।


जब आपकी ग्रेजुएशन कंप्लीट हो जाती है तो उसके बाद आपको पोस्ट ग्रेजुएशन के लिए एक एंट्रेंस एग्जाम देना होता है। और उसके बाद आप अपने फेवरेट सब्जेक्ट में पोस्ट ग्रेजुएशन कंप्लीट कर सकते हैं। और आपको एक मास्टर डिग्री मिलेगी। और आप अपने सब्जेक्ट में एक्सपर्ट हो जाएंगे। प्रोफेसर या लेक्चरर बनने के लिए पोस्ट ग्रेजुएशन में भी आपको कम से कम 55 परसेंट नंबर लाने होंगे।


4.UGC NET के टेस्ट को पास करें।


जैसे ही आपका पोस्ट ग्रेजुएशन कंप्लीट हो जाता है तो उसके बाद आपको UGC NET का एग्जाम क्लियर करना होगा क्योंकि इस एग्जाम को क्लियर किए बिना आप एक लेक्चरर या प्रोफेसर नहीं बन सकते। जब आप UGC NET के एग्जाम को क्लियर कर लेते हैं तो उसके बाद आप एक कॉलेज के लेक्चरर या प्रोफेसर बन सकते हैं। और कॉलेज में पढ़ा सकते हैं।


5.प्रोफेसर बनने के लिए M.Phil या P.hd करें।


एक कॉलेज का प्रोफेसर या लेक्चरर बनने के लिए आपको  ग्रेजुएशन के बाद M.Phil या P.hd दोनों मैं से किसी एक चीज में डिग्री पूरी करनी होती है। और आप प्रोफेसर बनने के लिए आपको से फेवरेट सब्जेक्ट में रिसर्च करना होता है और उसके बाद पीएचडी करनी होगी। और पीएचडी में कम से कम 55% नंबर होने चाहिए।


प्रोफेसर की सैलरी कितनी होती है ?


जब भी आपके मन में यह विचार आता है कि आपको एक प्रोफेसर बनना है तो आपके मन में यह प्रश्न अवश्य होता होगा कि एक प्रोफेसर की सैलरी कितनी होती है। एक प्रोफेसर की सैलरी लगभग ₹38000 से ₹70000 तक होती है। जबकि लेक्चरर और असिस्टेंट प्रोफेसर की सैलरी ₹18000 से ₹39000 तक होती है।

तो जब भी आप प्रोफेसर बनते हैं तो आपको अच्छी खासी सैलरी मिलती है ।और उसके साथ-साथ आपको समाज में भी बहुत सम्मान मिलता है।